दालचीनी के फायदे तथा दालचीनी का सही इस्तेमाल कैसे करे।

दालचीनी के फायदे तथा दालचीनी का सही इस्तेमाल कैसे करे।

दालचीनी के फायदे के कारण दालचीनी का प्रयोग भारत में बहुत लंबे समय से होता आ रहा हैं। इसका प्रयोग मसाले के रूप में किया जाता है। दालचीनी का पौधा 10-15मी० ऊँचा होता हैं। भारत मे यह दक्षिणी भारतीय क्षेत्र,असम, सिक्किम आदि जगहों में पाया जाता हैं। इसका वर्णन प्राचीन ग्रँथों में भी हुआ है। दालचीनी के पौधें से एक बार इसकी छाल निकलने से यह पौधा समाप्त हो जाता हैं। बाद में यह या बीज से उग आता हैं या इसकी कलमो से यह उग आता हैं। दालचीनी का प्रयोग केवल मसाले के ही रूप में…

Continue Reading
लौंग के फायदे तथा लौंग के प्रयोग का सही तरीका

लौंग के फायदे तथा लौंग के प्रयोग का सही तरीका

भारत मे लौंग को मसाले के रुप में प्रयोग किया जाता है। यह बहुत ही उपयुक्त औषधि भी हैं तथा लौंग के फायदे भी बहुत है। लौंग के पौधे को क्लोव भी कहते हैं। यह एक सदाबहार पेड़ हैं। लौंग के पेड़ को फल देने में पांच छ: वर्ष लग जाते हैं। पहले पेड़ पर फूल लगते हैं फिर फूलो का रंग हल्का गुलाबी हो जाता है। कई बार तो फूलो को ही तोड़ लिया जाता हैं और उनको धूप में सूखा कर लौंग प्राप्त की जाती हैं। पौधो से सीधे लौंग प्राप्त करने से कई बार…

Continue Reading
अदरक के औषधीय गुण तथा अदरक खाने के फायदे।

अदरक के औषधीय गुण तथा अदरक खाने के फायदे।

अदरक का इस्तेमाल बहुत सालो से हमारे पूर्वज भी करते आ रहे हैं क्योकि अदरक खाने के फायदे बहूत होते है। यह हमारे खाने में स्वाद ही नही बढ़ाता बल्कि अदरक के औषधीय गुण भी होते है।अदरक को जिंजिबर ऑफिसिनेल के नाम से भी जाना जाता है। यह जमीन के अंदर उगाया जाता है इसका कोई बीज नही होता बल्कि अदरक के टुकड़े को ही काट कर जमीन में लगाया जाता है। इसकी खेती मई के महीने में की जाती है। भारत मे यह उत्तरप्रदेश, बिहार, पंजाब, चेन्नई, बंगाल में पाया जाता हैं।अदरक को एक मसाले के…

Continue Reading
ग्रीन टी बनाने की विधि तथा ग्रीन टी के फायदे ओर नुकसान

ग्रीन टी बनाने की विधि तथा ग्रीन टी के फायदे ओर नुकसान

ग्रीन टी जैसे नाम से ही पता चल रह हैं हरी चाय।आमतौर पर इसका प्रयोग आजकल हर घर मे हो रहा है।ग्रीन टी का सबसे पहले प्रयोग चीन में किया गया बाद में पूरे यूरोप में इसका उपयोग होने लगा।और आजकल नई पीढ़ी हरी चाय का ही प्रयोग कर रही है। हरी चाय को कैमेलिया साईनेंसिस नामक पौधे से प्राप्त किया जाता है जो कि भारत मे असम व मणिपुर के क्षेत्रों में पाए जाते हैं। ग्रीन टी ने कुछ सालों में अपनी काफी लोकप्रियता बढ़ा दी हैं।इसमे एंटीऑक्सीडेंट और पोलीफेनॉल्स होते है जो कि वजन कम…

Continue Reading
चाय के प्रकार तथा चाय बनाने की विधि की पूरी जानकारी।

चाय के प्रकार तथा चाय बनाने की विधि की पूरी जानकारी।

भारत मे चाय को बहुत ही लोकप्रिय माना जाता है।भारतीय सँस्कृति में अक्सर चाय का जिक्र होता ही आ रहा है।चाय पर नजर सबसे पहले ब्रिटिश लोगो की गई जब उन्होंने असम के लोगो को इसे पीते देखा तो उन्होंने भी इसका सेवन शुरू कर दिया और ऐसे चाय का प्रचलन शुरु हो गया।इस पोस्ट में अब हम बात करेंगे कि भारत मे चाय कितने प्रकार की होती है व चाय बनाने की विधियो के बारे में पढेंगे। चाय चार प्रकार की होती हैं: अदरक चाय हर्बल चाय मसाला चाय कश्मीरी चाय अदरक चाय बनाने की विधि…

Continue Reading
Close Menu